2 line shayari in hindiDard bhari shayariHindi love shayariHindi love shayari for girlfriendromantic hindi shayariShayari Collection in Hindiहिंदी शायरी

1000+ 2 Line love Shayari in hindi | Short Hindi Shayari | Best Shayari in 2 Lines

Heart Touching 2 Line Shayari in Hindi

Top Facebook Status – Best  Shayari in Hindi –

**********************

Phir Usi Ki Yaad Mein Dil Beqarar Hua Hai,
Bichhad Ke Jis Se Huyi Shahar Shahar Ruswayi.

फिर उसी की याद में दिल बेक़रार हुआ है,

बिछड़ के जिस से हुयी शहर शहर रुसवाई।

**************************

Kaise Kah Dun Ki Mujhe Chhod Diya Hai Usne,
Baat Toh Sach Hai Magar Baat Hai Ruswayi Ki.

कैसे कह दूँ कि मुझे छोड़ दिया है उसने,

बात तो सच है मगर बात है रुसवाई की।

**************************

Apni Ruswai Tere Naam Ka Charcha Dekhun,
Ek Jara Sher Kahun Aur Main Kya Kya Dekhun.

अपनी रुसवाई तेरे नाम का चर्चा देखूं,

एक जरा शेर कहूँ और मैं क्या क्या देखूं।

**************************

Kya Mila Tumko Mere Ishq Ka Charcha Karke,
Tum Bhi Ruswa Huye Mujhe bhi Ruswa Kar Ke.

क्या मिला तुम को मेरे इश्क़ का चर्चा कर के,

तुम भी रुसवा हुए मुझे भी रुसवा कर के।

**************************

Teri Saason Ki Aahat Ko Bhi Pehchanta Hun Main,
Mujhe Ruswa Kare Tu Iski Gunjaish Kahan Hai Ab.

तेरी साँसों की आहट को भी जब पहचानता हूँ मैं,

मुझे रुसवा करे तू इसकी गुंजाइश कहाँ है अब।

**************************

Kuchh Iss Tarah Se Ruswa Kar Diya Usne Mujhe,
Ke Saans Bhi Na Ruki Aur Maut Bhi Aa Gayi.

कुछ इस तरह से रुसवा कर दिया उसने मुझे,

कि साँस भी न रुकी और मौत भी आ गई।

**************************

Kaise Keh Dun Ki Mujhe Chhod Diya Hai Usne,
Baat To Sach Hai Magar Baat Hai Ruswayi Ki.

कैसे कह दूँ कि मुझे छोड़ दिया है उसने,
बात तो सच है मगर बात है रुसवाई की।

💞*********💝💑💝********💞

Na Kar Dil Ajaari, Na Ruswa Kar Mujhe,
Jurm Bata, Saja Suna Aur Kissa Khatm Kar.

न कर दिल अजारी, न रुसवा कर मुझे,
जुर्म बता, सजा सुना और किस्सा ख़तम कर।

**************************

Khulta Kisi Pe Kya Mere Dil Ka Muamla,
Shayaron Ke Intekhab Ne Ruswa Kiya Mujhe.

खुलता किसी पे क्या मेरे दिल का मुआमला,
शायरों के इंतेखाब ने रुसवा किया मुझे।

**************************

 

two line attitude shayari in hindi

**************************

Apni Ruswai Tere Naam Ka Charcha Dekhun,
Ek Jara Sher Kahun Aur Main Kya Kya Dekhun.

अपनी रुसवाई तेरे नाम का चर्चा देखूं,
एक जरा शेर कहूँ और मैं क्या क्या देखूं।

**************************

Vaade Pe Wo Mere Aitbaar Nahi Karte,
Hum Zikr e Mohabbat Sare Bajaar Nahi Karte,
Darta Hai Dil Unki Ruswai Na Ho Jaye,
Wo Samajhte Hai Hum Unse Pyar Nahi Karte.

वादे पे वो मेरे ऐतवार नहीं करते,
हम जिक्र-ए-मोहब्बत सरे बाजार नहीं करते,
डरता है दिल उनकी रुसवाई ना हो जाये,
वो समझत हैं हम उनसे प्यार नहीं करते।

**************************

best two line shayari ever

**************************

तेरी चाहत में रुसवा यूँ सरे बाज़ार हो गये,
हमने ही दिल खोया और हम ही गुनहगार हो गये।

**************************

जमाने भर की रुसवाईयाँ और बेचैन रातें,
ऐ दिल कुछ तो बता ये माजरा क्या है।

**************************

*** रुसवाई शायरी in Hindi ***

Jamane Se Nahi To Tanhai Se Darta Hu,
Pyar Se Nahi To Ruswai Se Darta Hu,
Milne Ki Umang Bahot Hoti Hai Dil Me,
Lekin Milne Ke Baad Teri Judai Se Darta Hu.

__________________________________

Waade Pe Woh Mere Aitbaar Nahi Karte;
Hum Zikaar Mohabbat Ka Saare-Bazaar Nahi Karte;
Darta Hai Dil Unki Ruswai Se;
Aur Woh Soachte Hai Ki Hum Unse Pyaar Nahi Karte!

_________________________________

In Dooriyon Ko Judai Mat Kehna,
In Khamoshio Ko Ruswai Mat Kehna,
Har Mod Pe Yaad Karenge Aapko,
Zindgi Ne Saath Na Diya To Bewafayi Mat Kehna !!!

__________________________________

*** 2 Line Ruswai Hindi Status ***

Dee jo itni mohabbat, phir bhi di usne ruswai…
Nahi kismat unke yeh ibadat, usse izzat naa raas aayi !!

___________________________________

कुछ कमी रह गयी है शायद मेरी रुसवाइयों में,
तुझसे से फिर मैं दिल लगाना चाहता हूँ।

_______________________________

ना कर दिल अजारी, ना रुसवा कर मुझे,
जुर्म बता, सज़ा सुना और किस्सा खत्म कर।
_____________________________

अपनी रुसवाई तेरे नाम का चर्चा देखूं,
एक जरा शेर कहूँ और मैं क्या क्या देखूं।

____________________________

Kabhi Humko Rab Ki Khudai Ne Mara,
Kabhi Sang Dil Mahboob Ki Judai Ne Mara,

Bari Muddat Tak Kabhi Tanha Rahe Hai Hum,
Kabhi Humko Ghamgeen Tanhai Ne Mara,

_________________________________

Mahboob Se Hum Pyar Ka Ikrar Nahi Karte,
Aur Hume Dar Aur Ruswai Ne Mara,

Ye Tha Mera Mazi Aur Ab Mera Haal Ye,
Mujhe Ab Mahboob Ki Bewafai Ne Mara…!!!

__________________________________

Previous page 1 2 3 4 5
Tags

Malhar

मेरा नाम रोहित डोबरियाल है मेरी विशेष रुचि संगीत एवं लेखन में है। में शास्त्रीय संगीत में सितार वादक हूँ और सितार वादन और नयी कविताओं की रचना करना मुझे अच्छा लगता है इसी लिए मैने ख़ुद जरूरत महसूस करते हुए एक ऐसा साझा मंच का निर्माण किया जहां नए उभरते हुए साहित्यकार,लेखक अपने विचारों को कविताओं के माध्यम व्यक्त कर सकें

Related Articles

Leave a Reply

Close
Close