मेरी हयात

Contents1  Love shayari in hindi1.1 मुफ़्लिसी में कट रही है जिंदगी तो क्यों छोड़ जाती हो मुझको तन्हा होकर रोयेगी याद करेगी एक दिन मेरी हयात मुझको ख्बाबों के किसी मोड़ पर मिलेंगे जब अजनबी बनकर कभी सीने से लगाकर यादों में खोकर गले तो लगा ले मुझको अभी मिलेंगे अगर कभी कहीं तन्हा खड़ी इस … Continue reading मेरी हयात